जबलपुरताज़ा खबरें

बरगी बांध के 13 गेट खुले

कलेक्टर भरत यादव द्वारा नागरिकों से नर्मदा के तटीय एवं जल भराव क्षेत्र से दूर रहने की अपील

जबलपुर। रानी अवंती बाई लोधी सागर परियोजना बरगी बांध के जलस्तर को नियंत्रित करने के लिये मंगलवार 18 अगस्त को दोपहर 2 बजे, बांध के 21 जलद्वारों में से 13 को खोल दिया गया। इन 13 जलद्वारों से एक लाख 21 लाख 660 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।
कलेक्टर भरत यादव ने नागरिकों से कहा है कि बरगी बांध से पानी छोड़े जाने की वजह से बांध के निचले हिस्से के नर्मदा के घाटों व तटों के जलस्तेर में बढ़ोत्तरी होगी। इसलिये नर्मदा के तटीय एवं जलभराव और डूब क्षेत्र के रहवासी नर्मदा के तटों और घाटों से सुरक्षित और पर्याप्त दूरी बनायें रखें।
रानी अवन्ती बाई लोधी सागर परियोजना के अधीक्षण यंत्री डी.एस. ठाकुर ने बताया कि बांध के 21 गेट में से गेट नंबर 5 से गेट नंबर 17 तक कुल 13 गेट खोले गये है। ये 13 गेट 1.80 मीटर की ऊँचाई तक खोले गये हैं। खोले गये जलद्वारों से एक लाख 21 हजार 660 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके अलावा यहाँ स्थित जल विद्युत उत्पादन इकाइयों से भी 7063 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।
बरगी बांध खोलते समय दोपहर 2 बजे, बांध का जलस्तर 421.60 मीटर रिकार्ड किया गया था। यह बांध के पूर्ण जलभराव स्तर 422.76 मीटर से मात्र 1.16 मीटर कम है। बरगी बांध के जलभराव क्षेत्र में इस समय करीब एक लाख 96 हजार क्यूसेक पानी की आवक हो रही है।
कार्यपालन यंत्री अजय सूरे के अनुसार बांध में वर्षा जल की आवक को देखते हुये जल निकासी की मात्रा को कभी भी घटाया या बढ़ाया भी जा सकता है।

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 7,761,312Deaths: 117,306
Close
Close