ताज़ा खबरेंराज्य

20 जिलों में भारी बारिश का चेतावनी, पहली बार एक साथ तीन अलर्ट जारी, नर्मदा का जलस्तर 8 फीट बढ़ा, भारी बारिश के कारण मध्यप्रदेश की कई नादियों में बाढ़ आ गई है।

भोपाल। मध्यप्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का दौर जारी है। राजधानी भोपाल में गुरुवार से बारिश हो रही है। इस मानसून में मौसम विभाग ने पहली बार एक साथ रेड, ऑरेन्ज और येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने भारी बारिश की संभावना जताई है।
5 जिलों में रेड अलर्ट

खरगौन, अलीराजपुर, धार, रतलाम, झाबुआ में रेड अलर्ट जारी किया गया है। इस बीच इन जिलों में 40-50 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चल सकती है। बिजली गिरने और चमकने की भी आशंका है।
9 जिलों में ऑरेंज अलर्ट

बुराहनपुर, बड़वानी, इंदौर, उज्जैन, देवास, शाजापुर, आगर, नीमच और मंदसौर। अतिभारी बारिश के साथ 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।
9 जिलों में यलो अलर्ट

बैतूल, हरदा, होशंगाबाद, खंडवा, राजगढ़, सीहोर, भोपाल, रायसेन और विदिशा जिले में यलो अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में भारी बारिश के साथ 40-50 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं। बिजली गिरने और चमकने की आशंका है।
नर्मदा नदी की जलस्तर बढ़ा

होशंगाबाद में लगातार बारिश हो रही है। नर्मदा नदी का जलस्तर सेठानीघाट पर 8 फीट बढ़कर 955 फीट पहुंच गया। यह खतरे के निशान 967 फीट से 12 फीट नीचे है। तवा बांध का जलस्तर 1158 फीट हो गया। जबलपुर में बरगी बांध के 13 गेट खुलने के कारण सीहोर में नर्मदा का जलस्तर बढ़कर 956.62 फीट हो गया है। हालांकि, अभी यह खतरे के निशान से 8 फीट नीचे है।
नदियां उफान पर, अलर्ट के निर्देश

मौसम विभाग के अनुसार, भोपाल में 24 घंटे में 215.4 मिली मीटर बारिश हुई है। जबकि, इंदौर में अब तक करीब 32 इंच पानी गिर चुका है। भोपाल और इंदौर के अलावा भी बारिश के चलते मध्य प्रदेश की अधिकांश नदियां उफान पर हैं। जिसके चलते तवा, बरगी, बाणसागर, बारना समेत भोपाल के बाणसागर बांध के गेट खोल दिए गए।

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 7,909,959Deaths: 119,014
Close
Close