2021-03-04
a
नरसिंहपुर

विदेशों को भेजी गई वैक्सीन दुष्परिणाम देश में कमी

पवन कौरव गाडरवारा केंद्र सरकार द्वारा लगभग 6 करोड़ कोरोना वैक्सीन जनवरी 2021 से लेकर मार्च 2021 के मध्य 50 से अधिक देशों को सप्लाई कर दी गई। जिसका दुष्परिणाम यह है हमारे देश में वैक्सीनेशन अभियान पर असर पड़ गया है और कई राज्यों में यह अभियान ठप पड़ गया। नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के प्रांतीय संयोजक मनीष शर्मा ने बताया कि मध्यप्रदेश सहित बहुत से राज्यों में 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को कोरोना वैक्सीन लगाने की घोषणा लगभग 1 हफ्ते पूर्व कर दी गई और 1 मई से यह वैक्सीनेशन प्रारंभ करने की घोषणा भी की परंतु केंद्र द्वारा वैक्सीन की सप्लाई ना होने की वजह से आज दिनांक तक यह वैक्सीनेशन प्रारंभ नहीं किया जा सका। मंच के सदस्यों ने यह आरोप लगाया कि केंद्र सरकार द्वारा देश के नागरिकों की अनदेखी करते हुए कोरी वाहवाही के लिए कोरोना वैक्सीन विदेशों को भेज दी गई, स्थिति निर्मित हुई की नि:शुल्क वैक्सीनेशन की जगह अब राज्यों को वैक्सीन 400 रूपए में खरीदने बाध्य होना पड़ रहा है सवाल यह उठता है कि गरीब लोग इतनी महंगी वैक्सीन कैसे खरीद सकेंगे ? नागरिक उपभोक्ता मंच के सदस्यों- राकेश चक्रवर्ती, प्रफुल्ल सक्सेना, आश्रिता पाठक पाठक, विनोद पांडे, पवन कौरव, सज्जाद अली आदि सदस्यों ने यह मांग की है कि गरीबी रेखा से नीचे परिवारों को सरकार नि:शुल्क वैक्सीनेशन करें तथा जैसा कि वैक्सीन बनाने वाली कंपनी ने यह तय किया की केंद्र को 150 रुपए में वैक्सीन देगी। बेहतर होगा केंद्र वैक्सीन खरीद कर राज्य सरकारों को प्रदान करें।
2021-03-04
a

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 24,046,809Deaths: 262,317
Close
Close