2021-03-04
a
छिंदवाड़ा

गौवंश से भरा ट्रक चढ़ा बजरंगियों और पुलिस के हत्ते

इलाज करने मौके पर पहुंचे पशु चिकित्सक

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
छिन्दवाड़ा/सौंसर। नरसिंहपुर की ओर से ग्रामीण क्षेत्र के मार्ग से गौवंश परिवहन थमने का नाम नहीं ले रहा एक और देखा जाए कि भारत में कोरोना अपना विकराल रूप लेते जा रहा है तो एक ओर बड़े पैमाने पर इन दिनों गौवंश तस्करों द्वारा बिना किसी डर के छिंदवाड़ा जिले के ग्रामीण अंचलों के विभिन्न मार्गों से गौवंश तस्करी की जा रही है। बुधवार की सुबह बजरंगीयों को सूचना प्राप्त हुई कि नरसिंहपुर से छिंदवाड़ा होते हुए रामाकोना सौंसर मार्ग से मोहगांव की और गौवंश से भरा हुआ ट्रक महाराष्ट्र के कत्लखाने ले जाया जा रहा है। सूचना पर तत्काल रामाकोना और सौंसर के बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा गौवंश से भरकर जा रहे ट्रक क्रमांक एमएच18 एए 8288 को सौसर मोहगांव सत्रापुर मार्ग पर पकड़ कर मोहगाव पुलिस के हवाले किया गया। बता दें कि प्रशासन के दावों के बावजूद भी नरसिंहपुर छिंदवाड़ा मोहखेड़ परासिया की ओर से हो रही गौवंश तस्करी रुकने का नाम नहीं ले रही है। ज्ञात हो कि परासिया नरसिंहपुर छिंदवाड़ा से मुख्य सड़क मार्गों से आते हुए रास्ते में कई पुलिस चौकिया नाके ओर थाने लगते है इसके बावजूद भी तस्करों में जरा भी भय का माहौल दिखाई नहीं पड़ता और बड़े आसानी से गौवंश तस्करी की जाती है।
वही बजरंगदल के जिला संयोजक सुभाष गड़ेकर ने बताया कि रामाकोना सौंसर मोहगांव मार्ग होते हुए गौवंश तस्करी की जानकारी बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को मिली थी जिसके बाद गौवंश से भरा 12 चक्का ट्रक को पकड़ा गया। जिसमें ठूस- ठूस कर कुकृता पूर्वक 53 नग गौवंश पाये गए। जिसे मोहगांव स्थित गौशाला में पहुंचाया गया और ट्रक को मोहगांव पुलिस द्वारा अपने कब्जे में लिया गया। 
जानवरों का इलाज कराने तत्काल पहुंचे मोहगाव  पशु चिकित्सक
ट्रक में बड़े ही बेरहमी के साथ में जानवरों को भरे जाने के कारण 7 जानवरों की मौत हो गई थी। पुलिस के द्वारा मोहगांव स्थित गौशाला में जानवरों को पहुंचाने के बाद पुलिस द्वारा पशु चिकित्सकों को सूचना देते ही तत्काल पशु चिकित्सकों द्वारा जानवरों का इलाज करना प्रारंभ कर दिया गया।
गौवंश तस्करी रोकने में नाकामयाब प्रशासन
गौवंश तस्करों की बात की जाए तो इन दिनों तस्करों द्वारा लॉकडाउन का पूरा फायदा उठाया जा रहा है। छिंदवाड़ा जिले की विभिन मार्गों से बड़ी ही आसानी पूर्वक मध्यप्रदेश से महाराष्ट्र के कत्लखानो में गौवंश तस्करी की जा रही हैं। परंतु प्रशासन के जिमेदार अधिकारियों द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी के चलते अब एक जिले से महाराष्ट्र के जिले में गौवंश तस्करी आम बात हो गयी है ऐसे में प्रशासन द्वारा इस ओर ध्यान देकर तस्करो पर लगाम लगाना चाहिए।
2021-03-04
a

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 29,359,155Deaths: 367,081
Close
Close