2021-03-04
a
सागर

भारतीय शक्ति चेतना पार्टी अवैध शराब विरोध मुहिम के साथ- साथ जन मुद्दों को लेकर कर रही प्रदर्शन और नारेबाजी

जितेंद्र राठौर नोहटा। आज भारतीय शक्ति चेतना पार्टी एवं भगवती मानव कल्याण संगठन के कार्यकर्ताओं ने पहले नगर पालिका परिषद दमोह एवं उसके बाद जबेरा में ज्ञापन सौंपकर प्रदर्शन किया।
नगर पालिका परिषद दमोह को नगर पालिका सीएमओ के नाम सौंपे ज्ञापन में बस स्टैंड एवं कचौरा मार्केट में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर ज्ञापन सौंपा। जिसमें संगठन सदस्यों ने बताया कि बस स्टैंड और कचौरा मार्केट में जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हुए हैं एवं नालियां जाम हो चुकी हैं, नालिया गंदे पानी से भरी हुई है जिससे मच्छर पनप रहे हैं और मलेरिया डेंगू होने की आशंका बनी रहती है।
कचौरा शॉपिंग सेंटर में टायलेट में पानी की टंकी रखी जाए नियमित सफाई की जाए एवं एक चौकीदार नियुक्त किया जाए। कचरे के बड़े डस्टबिन रखे जाएं जिससे लोग बीमारी से बच सके और मानव समाज का भला हो।
इसी के साथ जबेरा संगठन पदाधिकारियों ने एक ज्ञापन सौंपा जिसमें बताया गया कि मध्यप्रदेश में महंगाई दिनों दिन बढ़ती जा रही है जिससे आमजन महंगाई से बहुत अधिक परेशान है ग्रामीण जन परेशानियों में अपना जीवन जीने के लिए मजबूर है गांव- गांव में अवैध शराब बेची जा रही है जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में अपराध जैसे बलात्कार हत्या आदि की घटनाएं बढ़ती जा रही है।
ज्ञापन में मांग की गई कि बिजली विभाग द्वारा बिजली कटौती बंद की जाए एवं तीन फेस बिजली उपलब्ध कराई जाए जबेरा क्षेत्र में अवैध शराब बिक्री पर रोक लगाई जाए ग्रामीण क्षेत्रों देवरी सड़क मझगवां कीरत भाट खमरिया मोतीपुरा डूंगर रोड परासई एवं जबेरा क्षेत्र के ट्रांसफार्मर जो खराब हो चुके हैं उन्हें तत्काल बदला जाए। नोहटा क्षेत्र में खुली देशी-विदेशी शराब दुकानों को मध्यप्रदेश शासन के नियमानुसार रहवासी क्षेत्रों से बाहर खोला जाए। नोहटा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क के किनारे लगने वाली अवैध मांस की दुकानों को बंद किया जाए क्योंकि आने जाने वाले महिलाओं एवं अन्य लोगों को इससे अत्याधिक परेशानी होती है। रोजगार गारंटी योजना में हो रहे भ्रष्टाचार पर रोक लगाई जाए तथा होने वाले कार्यों में जहां- जहां मशीनों का उपयोग हो रहा है उसकी जगह मजदूरों से काम लिया जाए जिससे गांव से पलायन को रोका जा सके। 
भारतीय शक्ति चेतना पार्टी एवं भगवती मानव कल्याण संगठन के सदस्यों ने प्रशासन को आगाह करते हुए बताया कि यदि शीघ्र अति शीघ्र मांगों पर निराकरण नहीं किया जाता तो जन आंदोलन करने के लिए विवश होंगे।
2021-03-04
a

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 33,347,325Deaths: 443,928